SEO क्या है हिन्दी में – What is SEO in Hindi – Full & Easy Explanation in Hindi

जब भी हम कोई ब्लॉग बनाते है फिर चाहे वो ब्लॉग हिंदी में हो या फिर अंग्रेजी में उसका SEO करना बेहद जरूरी होता है। 

यदि आप एक ब्लॉगर है या ब्लॉगिंग शुरू कर रहे है तो शायद आपको SEO का Full Form पता हो लेकिन फिर भी हम बता ही देते है। SEO का Full Form Search Engine Optimization यह होता है। 

तो हम आपको SEO की विस्तार से जानकारी देने वाले है। हम आपको बताएंगे कि SEO क्या होता है और SEO क्यों जरूरी होता है। और साथ ही हम आपको SEO के प्रकार भी बताएंगे। तो सबसे पहले हम आपको SEO का Meaning समझाते है।

SEO Meaning In Hindi

SEO का Full Form Search Engine Optimization होता है यह तो आप जान ही गए है। SEO को हिंदी में खोज इंजिन अनुकूलन भी कहा जाता है। यह किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग को Rank करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

जब भी कोई ब्लॉगर एक नया ब्लॉग बनाता है तो वह यही चाहता है कि वह जो भी लेख लिख रहा है वह लोग पढ़ पाए और वह लेख लोगो तक पहुंच सके। और इसी कारण वह अपने ब्लॉग का SEO करने की सोचता है। 

क्योंकि हर ब्लॉगर पोस्ट तो लिखता है लेकिन उसकी पोस्ट rank नही होती है बहुत कम ब्लॉगर्स ही ऐसे होते है जिनकी पोस्ट गूगल पर रैंक होती है। यदि आपकी SEO स्किल अच्छी है तो आप भी अपनी पोस्ट गूगल के पहले पेज पर रैंक करवा सकते है।

लेकिन यदि आपकी SEO स्किल अच्छी नही है तो आपको अपनी पोस्ट गूगल पर रैंक करवाने में मुश्किल आ सकती है। इसीलिए आपको SEO सीखने की जरूरत है। यदि आपका SEO अच्छा है तो आप ज्यादा से ज्यादा पोस्ट रैंक करवा सकते है।

यदि आपका ब्लॉग का SEO अच्छा हो जाता है तो Search Engine के माध्यम से आपके ब्लॉग पर काफी ज्यादा ट्रैफिक आने लगता है और जिससे आपका ब्लॉग आगे बढ़ने लगता है और आपकी इनकम भी होने लगती है।

SEO करना क्यों जरूरी है ?

जब भी कोई नया ब्लॉगर नया नया ब्लॉग बनाता है तो उसे SEO के बारे में कुछ भी जानकारी नही होती है। और फिर भी वह अपने लेख बिना SEO किये पब्लिश करता रहता है। और फिर एक भी पोस्ट रैंक न होने के कारण वह ब्लॉगिंग ही छोड़ देता है।

ऐसे कई ब्लॉगर्स है जो ब्लॉग शुरू तो कर देते है लेकिन कुछ ही महीने बाद ब्लॉगिंग छोड़ भी देते है क्योंकि उनके ब्लॉग पर ट्रैफिक ही नही आता है और इसका कारण है ब्लॉग पर SEO न करना।

क्योंकी आपकी पोस्ट google के पहले पेज पर तभी दिखेगी जब आप अच्छी तरह से उसका SEO करेंगे। क्योंकी बिना SEO किये यह नामुमकिन है। इसीलिए यदि आपको ब्लॉगर बनना है तो SEO सीखना भी जरूरी है। क्योंकि बिना SEO सीखे आप आगे नही बढ़ सकते है।

कई ब्लॉगर्स ऐसे भी सोचते है कि ब्लॉग पर SEO करने की जरूरत ही नही है और वह अपने ब्लॉग पर ट्रैफिक सोशल मीडिया से लाएंगे। लेकिन यदि आपका पूरा ट्रैफिक सोशल मीडिया से आएगा तो धीरे धीरे आपका ब्लॉग भी पीछे होता चला जायेगा। और आपकी इनकम भी कम होने लगेगी।

SEO करना क्यों जरूरी है यह तो आपने जान ही लिया है तो चलिए अब हम आपको बताते है कि  आखिर ब्लॉग का SEO कैसे करते है।

SEO कैसे करते है ?

किसी भी ब्लॉग का SEO करना कोई रॉकेट साइंस नही है। SEO करना या सीखना कोई बहुत मुश्किल काम नही है और नही ही यह इतना आसान है कि आप कुछ ही दिनों में सिख जाओगे।

SEO सीखने के लिए आपको कुछ महीने या फिर कुछ साल भी लग सकते है। आपको लगातार प्रैक्टिस की जरूरत पड़ती है। इसके लिए आपको कीवर्ड्स रिसर्च भी आना जरूरी है तभी जाकर आप SEO पूरी तरह से सिख पाएंगे।

SEO आप तभी सिख पाएंगे जब आपको इसके प्रकार पता रहेंगे। वैसे SEO यह 2 प्रकार के होते है। तो वह कौन से प्रकार है यह हम आपको नीचे बताएंगे और साथ ही आप यह भी सिख जाएंगे की SEO कैसे करते है। 

SEO कितने प्रकार के होते है ?

SEO यह 2 प्रकार के होते है।

  1. On Page SEO
  1. Off Page SEO

तो यह थे SEO के 2 प्रकार। अब हम आपको दोनों प्रकार को विस्तार से बताएंगे। तो चलिए सबसे पहले हम आपको On Page SEO के बारे में बताते है और फिर उसके बाद Off Page SEO के बारे में बताएंगे।

1. On Page SEO क्या होता है ?

On page SEO तब किया जाता है जब आप अपने ब्लॉग की पोस्ट लिखते है। पोस्ट लिखते वक्त off page SEO की जरूरत नही होती है। इसमे सिर्फ On Page SEO ही किया जाता है। और हा On Page SEO ब्लॉग के लिए ज्यादा जरूरी होता है।

Off Page SEO की तुलना में On Page SEO ज्यादा important और शक्तिशाली माना जाता है। इसीलिए जब भी आप पोस्ट लिखते है तो आपको On Page SEO को ध्यान में रखकर पोस्ट लिखना चाहिए। 

On Page SEO को अच्छा करने के लिए आपको कुछ और भी बातों के तरफ ध्यान देना पड़ता है। और वह कौन से बाते है इसके बारे में हम आपको नीचे बता रहे है।

  1. Responsive Theme

अपने ब्लॉग की थीम हमेशा साफ सुथरी रखे आप चाहे तो अपने ब्लॉग के लिए कोई Responsive थीम डाउनलोड कर सकते है या फिर खरीद भी सकते है। 

  1.  Post Length

SEO को बेहतर बनाने के लिए आपकी post length भी मिनिमम 1000 words की होनी चाहिए। आप मैक्सिमम 2000 से लेकर 3000 तक लिख सकते है। लेकिन 1000 वर्ड्स के आसपास जरूर अपने पोस्ट की length रखे।

  1.  Post Title

On Page SEO यह पूरी तरह से आपके पोस्ट के टाइटल पर डिपेंड करता है। इसीलिए अपने पोस्ट का टाइटल ऐसा रखे जो लोग गूगल पर बार बार सर्च किया करते है। और पोस्ट टाइटल हमेशा थोड़ा long रखे।

  1. Permalink

आपके ब्लॉग के SEO के लिए जितना जरूरी पोस्ट टाइटल होता है उससे ही ज्यादा जरूरी permalink होता है। क्योंकी permalink में जो url होता है उसी को सर्च करके ट्रैफिक ब्लॉग पर आते है। इसीलिए अपना permalink भी ऐसा रखे जो लोग बार बार सर्च करते है।

  1. Image ALT Tag

आप अपने ब्लॉग पर जो images लगाते है तो जाहिर सी बात है कि आप वह images गूगल से ही डाउनलोड करते होंगे। कई बार इन images पर भी कॉपीराइट आ सकता है और यह SEO के लिए खतरनाक साबित हो सकता है।

इसी कारण जब भी आप अपने पोस्ट में images का उपयोग करते है तो image को alt tag जरूर दे।

  1. Website Speed

आपके ब्लॉग के SEO के लिए आपके ब्लॉग की स्पीड अच्छी होना चाहिए। क्योंकि जब भी कोई इंसान आपके ब्लॉग को रीड करने आये तो आपका ब्लॉग जल्दी से खुल जाना चाहिए। यदि आपका ब्लॉग स्लो ओपन होता है तो इससे रीडर्स का इंटरेस्ट चला जाता है।

  1.  Keywords

बिना कीवर्ड्स का इस्तेमाल किये आप अपने ब्लॉग का On Page Seo कर ही नही सकते है। क्योंकी कीवर्ड एक इम्पोर्टेन्ट फैक्टर माना जाता है। आपको अपने पोस्ट में कुछ कीवर्ड्स इस्तेमाल करना चाहिए।

कीवर्ड्स हमेशा वो ही इस्तेमाल करे जिनका सर्च वॉल्यूम अच्छा हो और कीवर्ड long हो। क्योंकि long tail कीवर्ड जल्दी सर्च में आते है। कीवर्ड के लिए आप किसी कीवर्ड रिसर्च टूल का भी इस्तेमाल कर सकते है।

  1. Internal Links

आपको अपने ब्लॉग का On Page Seo करने के लिए इंटरनल लिंक्स देना भी जरूरी होता है। इंटरनल लिंक्स वह लिंक्स होते है जो आप पहले पोस्ट पब्लिश कर चुके है।

आपको अपने पहले पब्लिश किये गए लेख के यूआरएल को कॉपी करके अपने बाकी के पोस्ट के बीच बीच मे डालना है। और इसी को इंटरनल लिंक्स कहा जाता है।

  1. Meta Description

On Page Seo के लिए जितना जरूरी टाइटल और कीवर्ड्स होते है उतना ही जरूरी मेटा डिस्क्रिप्शन भी होता है। जब भी आप किसी पोस्ट को पब्लिश करते है तो आपके पोस्ट के टाइटल के नीचे आपका मेटा डिस्क्रिप्शन भी शो होता है। इसीलिए अच्छा मेटा डिस्क्रिप्शन देना भी जरूरी है।

  1.  Heading and Sub Heading

Heading और Sub Heading सिर्फ आपके ब्लॉग के SEO के लिए इम्पोर्टेन्ट न होकर यह आपके पोस्ट को अच्छा दिखाने में भी काफी ज्यादा मदद करते है

आप अपने पोस्ट में H1 और H2 की heading दे सकते है।

2. Off Page SEO kya hota hai ?

जैसा कि अब आप जानते है कि On Page Seo कैसे किया जाता है। लेकिन Off page Seo इससे थोड़ा अलग होता है। इसमें आपको कुछ अलग तरीको का इस्तेमाल करना पड़ता है और वह कौन से तरीके है इसके बारे में हम आपको नीचे बताते है।

  1. Sitemap

Off Page Seo में आपको अपने ब्लॉग का Sitemap सर्च इंजन में सबमिट करना पड़ता है। आप चाहे तो इस sitemap को Google सर्च इंजन और Bing या yahoo सर्च इंजन में सबमिट कर सकते है।

  1. Backlink

Off Page Seo में आपको अपने ब्लॉग के लिए बैकलिंक तैयार करना पड़ता है। बैकलिंक आप दूसरों के ब्लॉग पर कमेंट करके बना सकते है या फिर दूसरे ब्लॉग पर गेस्ट पोस्ट लिख कर भी बना सकते।

  1. Social Media Site

Off Page Seo में आपको अपने ब्लॉग की लिंक अलग अलग सोशल मीडिया साइट पर शेयर करना पड़ता है। जैसे कि फेसबुक, google plus, twitter और भी बहुत सारे साइट पर आप शेयर कर सकते है।

  1. Bloggers Forum

आप चाहे तो अपने ब्लॉग का Off Page Seo को बेहतर बनाने के लिए अपने ब्लॉग का url इंटरनेट पर उपलब्ध अलग अलग फोरम में सबमिट कर सकते है। इससे भी आपके ब्लॉग का रैंक बढ़ने लगता है।

Conclusion – 

तो हमने आपको आज के इस लेख में Seo Kya Hai इसके बारे में विस्तार से जानकारी दी है। हम आशा करते है कि आज का यह लेख आपको पसंद आया होगा।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *