ब्लॉगर क्या होता है, Blogger कैसे बने ?

आज हम एक ब्लॉगर की बात करेंगे की ब्लॉगर कौन होता है ? ब्लॉगर कैसे बनते है ? ब्लॉग क्या है ? एक ब्लॉगर क्या करता है, सब कुछ जो एक ब्लॉगर बनने में मदद करता है।  

तो चलिए शुरू से शुरू करते हैं…

ब्लॉग क्या होता है ?

“ब्लॉग” एक वेबसाइट की तरह ही होता है। ब्लॉग पर हम किसी भी प्रकार की जानकारी शेयर कर सकते हैं। यदि आपको किसी भी फील्ड में ज्ञान है तो आप उन्हें लोगों के साथ ब्लॉग के माध्यम से इंटरनेट पर शेयर कर सकते हैं।

ब्लॉग में कंटेंट लिखना, जानकारी शेयर करना एक ब्लॉग कहलाता है। जिसे आप पढ़ रहे हैं यह भी एक ब्लॉग है। हमारा ब्लॉग हिंदी के “बेस्ट ब्लॉग लिस्ट” में आता है।

जैसे की मैंने कहा वेबसाइट और ब्लॉग में बहुत कम अंतर है वह क्या है ?

ब्लॉग और वेबसाइट में क्या अंतर है?

ब्लॉग पर हम सिर्फ कंटेंट डालते हैं और लोगों के साथ जानकारी शेयर करते हैं उदाहरण के लिए हमारा यह ब्लॉग है। और वेबसाइट किसी बिजनेस को रन करने के लिए बनाई जाती है उदाहरण के लिए जैसे अमेजॉन, फ्लिपकार्ट दो बड़ी वेबसाइट हैं।

ब्लॉगर और ब्लॉगिंग क्या है ?

ब्लॉग चलाने वाले को ब्लॉगर कहते हैं और ब्लॉग पर जो भी काम करते हैं जैसे कंटेंट पब्लिश करना, इमेज ऑप्टिमाइज़ करना, बैकलिंक बनाना इन्हें ब्लॉगिंग कहते हैं।

अपना ब्लॉग कैसे शुरू ?

ब्लॉग बनाने से पहले आपको यह चुनाव करना है कि आप फ्री ब्लॉग बनाना चाहते हैं या कुछ पैसे देकर ब्लॉग बनाना चाहते हैं। दोनों से ही पैसे कमाए जा सकते हैं। तो पहले फ्री वाले के बारे में जानते हैं।

अपना फ्री ब्लॉग कैसे बनाएं ?

फ्री ब्लॉग बनाने के लिए सबसे पॉपुलर प्लेटफार्म ब्लॉगर है। यह गूगल की फ्री सर्विस है। आप ब्लॉगर पर जाकर फ्री ब्लॉग बना सकते हैं। आपको बस गूगल अकाउंट की जरूरत होती है और बस कुछ ही मिनटों में ही आपका फ्री ब्लॉग तैयार हो जाएगा।  यूट्यूब पर इसकी ढेरों वीडियो पड़ी है आप वहां से सीख सकते हैं।

पैसे देकर ब्लॉग कैसे बनाएं ?

“वर्डप्रेस” प्लेटफार्म सबसे अच्छा है एक पेड ब्लॉग बनाने के लिए, क्योंकि यह बहुत आसान है। इसके लिए आपको एक डोमेन और होस्टिंग खरीदनी पड़ेगी।  

डोमेन और होस्टिंग क्या है ?

ब्लॉग के नाम को Domain name कहते है उदाहरण के लिए हमारा डोमेन नाम है “Hindiblogger” होस्टिंग एक memory कार्ड की तरह होती है जिसमे आपके ब्लॉग का सारा डाटा होस्ट होता है जिसे सर्वर कहते है।

यह आपको दोनों ही Godaddy.com पर मिल जाएंगे। क्योंकि मैं यह इस्तेमाल करता हूं तो मैं आपको भी यही इस्तेमाल करने की सलाह देता हूं जो कि काफी सही है। इस पर इंडियन सपोर्ट है कोई दिक्कत आने पर, कुछ समझ ना आने पर आप कॉल करके पूछ सकते है।

डोमेन और होस्टिंग लेने के बाद आपको एक दूसरे के साथ उन्हें जोड़ देना है। आपका ब्लॉग Ready हो जाएगा।

ब्लॉग को डिज़ाइन करे।

ब्लॉग बनाने के बाद का सबसे पहला काम ब्लॉग को डिजाइन करना है। ब्लॉग के कैटेगरी, पेज, बनाने होंगे। और उसके बाद फॉण्ट को चुनना है, किसी थीम को चुनना है जो बेहतर लगे। मैं आपको यह सलाह देता हूं कि आप ब्लॉग को सिंपल ही रखे।

उपयोगकर्ता को बेहतर से बेहतर यूजर एक्सपीरियंस मिलना चाहिए, आपको इस बात को ध्यान में रख कर ब्लॉग डिज़ाइन करना है।

Niche (टॉपिक) का चुनाव करे।

आपको उस टॉपिक को चुनना होगा जिसके बारे में आप लोगों को जानकारी देने वाले हैं। इसके लिए अपने आप को थोड़ा टाइम दे और बढ़िया niche चुने। उसी बारे में लोगों को जानकारी दे जिसके बारे में आपके पास ज्ञान और एक्सपीरियंस है।

ऐसा मैं इसलिए बोल रहा हू क्युकी बहुत लोग ऐसे ही ब्लॉग शुरू करे देते है। ऐसे में वह एक सक्सेसफुल ब्लॉगर नहीं बन सकते।

ब्लॉग में कंटेंट लिखे।

जब मैं कंटेंट लिखने की बात करता हूं तो उसका मतलब केवल लिखना ही नहीं है। आपको लोगों की मदद करनी है। अपने एक्सपीरियंस और जानकारी को लोगों के साथ बांटना है। अगर कंटेंट में कुछ ऐसा लिखा है जिससे लोगो की मदद हो रही है, तो आप सही जा रहे है।

आर्टिकल को Easy to read बनाना है। जिसे उपयोगकर्ता आसानी से पढ़ सके। कुछ भी ना लिखें। ऐसा बोला जाता है की कुछ ना करने से बेहतर है कुछ करना। लेकन यह लाइन ब्लॉग में काम नहीं करती। अच्छा लिखे, वर्ना ना लिखे।

कंटेंट को ऑप्टिमाइज़ करे।

कंटेंट लिखने के बाद का प्रोसेस है उसे गूगल सर्च इंजन के लिए ऑप्टिमाइज करना। गूगल को कंटेंट समझाने के लिए ऑप्टिमाइजेशन की आवश्यकता है। जैसे हमे टारगेट कीवर्ड कहाँ और कैसे इस्तेमाल करना है।

जिससे की सर्च इंजन पता लगा सके कि बात किस बारे में की जा रही है। उसे समझाने की प्रक्रिया को ऑप्टिमाइजेशन कहते हैं।

कंटेंट को परमोट करे।

70% समय आपको कंटेंट को परमोट करने में लगाना है। आप ईमेल लिस्ट बिल्ड करके कंटेंट परमोट कर सकते है। सोशल मीडिया पर लिंक्स शेयर कर सकते है, लेकिन वही जहाँ इसकी जरूरत हो।

सिर्फ लिंक शेयर करना कंटेंट परमोशन करने का यह गलत तरीका है।

सोशल मीडिया प्रोफाइल बनाये।  

अपनी एक सोशल मीडिया प्रोफाइल बनाएं और उसमे ब्लॉग का लिंक डालें। ऐसे करके आप गूगल सर्च इंजन में ब्लॉग विजिबिलिटी को बढ़ा सकते है जिससे आपकी रैंकिंग में सुधार आएगा।

वही दूसरी तरफ अगर आप ब्लॉग को एक ब्रांड बनाना चाहते है तो यह एक तरीका है क्युकी लोग अपना काफी समय सोशल मीडिया पर स्पेंड करते है। जिससे  आपके ब्रांड को जानने का उन्हें मौका मिलेगा।

ब्लॉग को ट्रैक करे।

अपने ब्लॉग को ट्रैक करने के लिए आप गूगल सर्च कंसोल और गूगल एनालिटिक्स का इस्तेमाल कर सकते है। यह टूल्स आपकी मदद करेंगे आपको अगला कदम बढ़ाने के लिए।

यह टूल्स का इस्तेमाल करके आप अपने ब्लॉग की डेली एक्टिविटी को ट्रैक कर सकते है।

गूगल एड्स लगाए और पैसा कमाए।

जब सारा काम हो जाता है तो आपको ब्लॉग को मोनेटाइज करना है। ब्लॉग को मोनेटाइज करने का सबसे आम तरीका है गूगल एडसेंस। गूगल एडसेंस की एड्स लगाकर आप पैसा कमा सकते है।

एड्स लगाने से पहले आपको ब्लॉग पर विजिटर आने चाहिए। अगर ऐसा नहीं होता है तो आप पैसे नहीं कमा पाएंगे। इसके अलावा आप एफिलिएट लिंक्स लगा कर पैसा कमा सकते है या किसी दूसरे ad नेटवर्क का इस्तेमाल करके पैसा कमा सकते है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *