विधायक कैसे बनते है | Vidhayak योग्यता, वेतन, अधिकार व कार्यकाल

Uncategorized

आजकल बहुत से लोग राजनीति में जाना चाहते हैं राजनीति में जाना आसान नहीं है, इसके लिए आपको काफी मेहनत और पढ़ाई भी करनी होती है। राजनीति समझने के लिए आपके अंदर स्किल्स भी होनी चाहिए, 

तभी आप राजनीति कैसे चलती है, को समझ पाएंगे। 

राजनीति में विधायक का बहुत बड़ा पद होता है, यह जानने के लिए की Vidhahak Kaise Bane, विधायक की सैलरी कितनी होती है, विधायक के क्या अधिकार होते हैं और विधायक का कार्यकाल कितना होता है ? चलिए मैं आपको बताता हूं कि आप “Vidhahak Kaise Ban Sakte Hai”

Vidhahak Kon Hota Hai – विधायक किसे कहते हैं ?

Vidhahak का दूसरा नाम MLA होता है जो अंग्रेजी शब्द है MLA का फुल फॉर्म Member Of Legislative Assembly होता है विधायक के कार्य को संभालना कोई खेल नहीं है क्योंकि विधायक के सर पर बहुत बड़ी जिम्मेदारियां होती है, जिसे हर कोई नहीं संभाल सकता। 

जब कोई व्यक्ति विधायक के पद पर नियुक्त हो जाता है तो कानून की व्यवस्था को बनाए रखना, नए कानून लागू करना और उन कानूनों का निरीक्षण करना विधायक का मुख्य कार्य होता है। राज्य का शासन चलाने 

के लिए सुचारू रूप से हर राज्यों में सरकार का गठन किया जाता है। 

राज्य की सरकार विधानसभा और विधान परिषद के सदस्यों से मिलकर बनती है विधान परिषद और विधानसभा के Elected Or Nominated Members को ही Vidhayak कहा जाता है। 

Vidhahak Kaise Bane – विधायक बनने के लिए

विधान परिषद का गठन भारत देश के लगभग 7 राज्यों में पहले हो चुका है भारत देश के हर राज्यों में प्रतिनिधि के तौर पर विधायक को नियुक्त किया गया है, जो राज्य की कानून व्यवस्था को संभालते हैं वहीं राज्य के क्षेत्रों की 

संख्या मतदाताओं पर निर्भर करती है। जब राज्य के वोटर अपना वोट देते हैं तो उसकी गिनती के बाद ही रिजल्ट आता है कि विधायक के पद पर कौन नियुक्त होगा। 

राज्यों की समस्या को देखते हुए विधानसभा में राज्य की समस्याओं को पेश करना होता है और समस्या का समाधान करने के लिए करने का हल निकाला जाता है। राज्य में जो भी योजनाएं जारी की जाती है वह राज्य के 

हर नागरिक तक पहुंचे इसके लिए विधायक प्रयास करता है विधायक का उदेश्य है की वह नागरिक तक उस योजना का लाभ पहुँचाये। 

विधायक बनने के लिए योग्यता – Vidhayak Eligibility

  • राज्य का विधायक बनने के लिए उम्मीदवार भारत का नागरिक होना चाहिए। 
  • विधायक बनने के लिए व्यक्ति की उम्र लगभग 25 वर्ष होनी चाहिए। 
  • MLA बनने वाले के पास कोई सरकारी नौकरी नहीं होनी चाहिए। 
  • विधायक बनने वाला व्यक्ति शारीरिक रूप और मानसिक रूप से पूरी तरह स्वस्थ होना चाहिए उसे किसी भी प्रकार की कोई बीमारी नहीं होनी चाहिए। 
  • लोकप्रतिनिधित्व अधिनियम, 1951 के अनुसार यदि विधायक को दोषी ठहराया जाता है, तो उसे विधायक के पद से निष्कासित कर दिया जाता है। 
  • विधायक बनने वाले व्यक्ति का नाम निर्वाचन क्षेत्र के मतदाता सूची में होना चाहिए। 

विधायक के अधिकार क्या होते हैं ?

  • विधायक के पास यह अधिकार होता है की वह अपने निजी क्षेत्रों का विकास के लिए कदम उठा सकता है। 
  • विधायक के पद पर बैठने वाला व्यक्ति राज्य की कानून योजना बनाता है और वह योजना सही से चल रही है या नहीं, इसका निरीक्षण भी विधायक करता है। 
  • Vidhahak Cabinet Mantri विपक्षी आलोचक को निश्चित करने का काम करता है। 
  • विधायक को सदन में प्रश्न पूछना और उत्तर देना पड़ता है। 
  • विधायक अपने किसी भी छत्र में कार्यालय खोलने का अधिकार प्राप्त होता है। 
  • यदि राज्य में हस्तक्षेप का मामला है, तो विधायक उसे सुलझाता है। 

विधायक बनने हेतु चुनाव प्रक्रिया (Election Process)

एक विधायक का चुनाव कैसे होता है, क्या प्रक्रिय होती है आइए जानते हैं :

  1. वर्तमान समय में जो भी व्यक्ति विधायक पद पर नियुक्त होता है उसका कार्यकाल पूरा होने के बाद ही दूसरा विधायक पद पर नियुक्त किया जाता है। 
  2. विधायक पद का कार्यकाल 5 वर्ष का होता है 5 वर्ष होने के बाद विधानसभा का चुनाव होता है जिसमे मतदाता वोटिंग करते हैं और नया विधायक चुनते हैं। 
  3. विधायक पद पर नियुक्त होने से 4 महीने पहले ही “निर्वाचन आयोग चुनाव” की घोषणा की जाती है और उम्मीदवार के नाम बताए जाते हैं जो विधायक पद पर नियुक्त होने के लिए तैयार है। 
  4. आप किसी राजनीतिक पार्टी से चुनाव लड़ सकते हैं या उम्मीदवार के रूप में खड़े हो सकते है। 
  5. विधानसभा का चुनाव लड़ने वाले को “प्रतिभूति राशि” जमा करनी पड़ती है
  6. यदि कोई सामान्य वर्ग का व्यक्ति विधायक बनना चाहता है, तो उसे ₹10,000 जमा करवाने पड़ते हैं। 
  7. (SC/ST) वर्गों के लोगों के लिए विधायक बनने के लिए ₹5,000 जमा करवाने पड़ते हैं। 
  8. प्रत्यक्ष चुनाव प्रणाली के अनुसार जनता के वोटिंग के आधार पर विधायक का चुनाव किया जाता है। 
  9. मतदान होने के बाद करीब 20 दिन के बाद मतगणना की घोषणा की जाती है। 
  10. जिस उम्मीदवार को अधिक Votes प्राप्त होते है वह विधायक पद पर नियुक्त हो जाता है। 

Vidhahak Ke Kaam – विधायक क्या कार्य करता है ?

  • एक विधायक अपने राज्य का विकास करता है। 
  • विधायक जनता दरबार में लोगों की समस्याओं को सुनता है और उनका हल निकालता है। 
  • राज्य सरकार द्वारा निकाली गई सरकारी योजनाएं और सुविधाएं हर नागरिक को मिले इसके लिए विधायक कदम उठाता है। 
  • राज्य के लिए कार्य योजना बनाना, उस पर चर्चा करना, निरीक्षण करना वह Vidhahak का कार्य है। 
  • गांव का विकास करना, सड़कों का निर्माण करना, जल , बिजली की व्यवस्था करना। 

Conclusion : विधायक बनने का क्या प्रोसेस होता है हमने इस आर्टिकल के माध्यम से जो है “Vidhayak Kaise Bane” पर सभी जानकारी दी है इसमें विधायक बनने की योग्यता, अधिकार, कार्यकाल और सैलरी बताई गई है। 

FAQs About Vidhayak Kaise Bane : 

Q1. विधायक की सैलरी कितनी होती है ?

Ans : विधायक की मासिक सैलरी डेढ़ लाख से लेकर 2,00,000 के बीच होती है, जिसमे पेट्रोल का खर्चा, मेडिकल के लिए खर्च, PA ख़र्च आदि शामिल होता है। 

Q2. विधायक का चुनाव कौन करता है ?

Ans : किसी भी राज्य के विधायक का चुनाव उस राज्य की जनता करती है राज्य की जनता वोटिंग देती है, जिस उम्मीदवार को अधिक वोट प्राप्त होते हैं वह विधायक के पद पर नियुक्त हो जाता है। 

Q3. विधायक का चुनाव कब होता है ?

Ans : विधायक का कार्यकाल 5 वर्ष होता है 5 वर्ष पूरे होने के बाद, इसके 3 महीने पहले ही चुनाव की घोषणा कर दी जाती है। 

Leave a Comment