RIP क्या है ? RIP की full form and Defination

इस बदलती दुनिया में हाई internet की स्पीड के साथ साथ उनकी सोशली भाषा में भी काफी बदलाव हुए है ! जिसके चलते लोगो ने अपनी भाषा को काफी हद तक शॉर्टकट और आसान बना लिया है – जैसे RIP, DP, TYM, 9IT, DM, How r u आदि !

आपने उपर देखा की 5 – 6 अक्षर वाले शब्द को 2 – 3 अक्षर के शब्द में ही ख़त्म कर दिया ! इसका उपयोग आपको ज्यादातर social media पर ही देखने को मिलेगा और साथ में ही RIP शब्द भी आपको देखने को मिलेगा !

इस शब्द को उपयोग लोग तब करते है, जब किसी की किसी कारन दुर्घटनावश मृतु हो जाती है, तो हम उसे RIP शब्द का उपयोग कर के उसकी आत्मा की शांति के लिए दुआ करते है ! शायद ऐसा आपने भी कई बार किया होगा !

आज हम RIP क्या है ? RIP की full form and defination जानेगे !!

RIP किसे कहते है ?

जब किसी कारन किसी व्यक्ति की दुर्घटनाग्रस्त मृत्यु हो जाती है, तो हम उसके लिए RIP शब्द का उपयोग करते है ! जिससे उसकी आत्मा को शांति मिल सके ! इसका उपयोग अधिक मात्रा में किच्शन लोग करते है !!

RIP की फुल फॉर्म क्या है ?

RIP कीफुलफॉर्म Reset in Peace है ! ये शब्द लेटिंन भाषा से लिए गया था ! जिसकामतलबहैशांतिसेआरामकरो  !

RIP शब्द का प्रयोग कहा किया जाता है ?

RIP शब्द का प्रयोग अधिक मात्रा में सोशल मीडिया पर किया जाता है ! मान लो अपने एक सोशल मीडिया पर एक पोस्ट देखी ! जिसमे आपको ये बताया गया है की उसकी किसी कारन मृत्यु हो गयी है !

ऐसी स्थिति में आप अपनी भावना व्यक्त करने के लिए RIP शब्द का प्रयोग करते है !!

RIP का मतलब क्या है ?

धर्म के अनुसार लोगो की मान्यताये भी बदलती रहती है ! जिससे की उनके अल्फाज़ (शब्द) भी बदल जाते है, परन्तु उनके कार्य करने का मकसद नही बदलता अर्थात मकसद एक ही होता है, अगर आसान भाषा में कहे तो RIP शब्द का मतलब आत्मा की शांति  !!

Example :- मान लो एक किच्शन है, अगर उसके यहाँ किसी की मृत्यु हो जाती है तो वो लोग उस व्यक्ति को किसी ताबूत में रख कर जमीन में गाड देते है और उसके उपर एक क्रोस का निसान लगा देते है !

अगर हम हिन्दू धर्म की बात करे तो वे लोग ऐसा नही करते ! वे लोग अपने मृत व्यक्ति को जला देते है, और उसके लिए श्रधान्जली देते है ! जोकि अपने धर्म के अनुसार करते है !

Conlusion : – आपको पता लग ही गया होगा की दोनों के रस्ते अलग अलग है परन्तु मकसद एक ही है, अर्थात लोग अपने अपने धर्म के अनुसार अपने कर्म को अंजाम देते है, यानि की मरे हुए व्यक्ति को अपने धर्म के अनुसार दफनाते है !!

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *