10 Tips – ब्लॉग का नाम क्या रखे | How to Come Up With a Blog Name

यदि आप नया ब्लॉग शुरू करने जा रहे हैं तो यह ब्लॉग पोस्ट आपकी सहायता करने वाला एक बढ़िया “ब्लॉग नाम” का चुनाव करने में। Blog Name रखते समय किन बातों का ध्यान रखना चाहिए, जो आप नहीं रखते तो आपको पछताना पड़ सकता है।

#1. ब्लॉग Niche का चुनाव करे

हाँ पहले आपको अपने ब्लॉग Niche के बारे सोचना होगा। यह झटपट करने वाली प्रक्रिया नहीं है। इसमें समय दें। कोशिश करें कि आपका डोमेन नाम में आपका niche शामिल हो।

उदाहरण के लिए “Financialexpress” वेबसाइट जो Financial टॉपिक्स पर कंटेंट डालती है।

यह किसी अनजान उपयोगकर्ता को सीधे तौर पर बताती की फलाना वेबसाइट किसी बारे में है। क्या आप नहीं चाहते है की लोग आपके नाम से आपके काम को जाने ?

#2. बहुत बड़े शब्द नहीं

यहां पर आप अपने ब्रांड का नाम चुन रहे हैं तो यह तय कर ले कि यह बहुत आसान शब्दों में हो। जो हर कोई याद कर सके। बहुत बड़े नाम ना रखें जो किसी के लिए याद रखना मुश्किल हो जाए।

5 से 6 वर्ड्स के अंदर ही नाम रखें। जिसे बेहद कम समय में सर्च किया जा सके। क्युकी मैं नहीं चाहता की कोई आपकी वेबसाइट सर्च करते समय आपको कोसे।

#3. पॉपुलर डोमेन का चुनना

यदि आप अपने ब्लॉग को एक ब्रांड का नाम दे रहे हैं, या देना चाहते हैं तो मैं आपको टॉप लेवल डोमेन लेने की सलाह देता हूं। जिससे आपका डोमेन की अथॉरिटी लगे। हां यह डोमेन नेम थोड़े महंगे हो सकते हैं लेकिन एक ब्रांड बनाने के लिए इसका काफी असर पड़ता है।

अगर आपका सब कुछ अच्छा है डोमेन नाम low लेवल का है तब ऐसे लगेगा की जैसे कोट पैंट पहन लिया परन्तु टाई नहीं लगाई।

#4. Unique Name खोजे

आपने कितने ऐसे ब्रांड देखे होंगे जो किसी ब्रांड की नक़ल करते है। नक़ल करने वाले कितना ही अच्छा क्यों ना कर ले उनके ऊपर Duplicate का ठप्पा लग जाता है। मैं यह बिल्कुल नहीं चाहता कि आप किसी ब्रांड नाम को कॉपी करें।

ऐसे करके आप उनके ब्रांड को ही permote करेंगे। तो बेहतर होगा हम खुद का एक यूनिक नाम रखे है जो आपको अलग अलग ब्रांड से कुछ हट के दिखाए।

#5. नंबर को भूल जाए

आपने ऐसे बहुत कम ब्रांड देखे होंगे जो अपने ब्लॉग नाम में नंबर का इस्तेमाल करते हैं क्युकी यह एक भूल भुलैया सा लगता है। केवल अल्फाबेट का इस्तेमाल करे। क्योंकि अल्फाबेट की कोई कमी नहीं है।

आप अल्फाबेट से ही बेहद अच्छे नाम रख सकते हैं। तो नंबर को फिलहाल भूल जाये।

#6. Synonyms की मदद ले

हाँ मैं जानता हूँ की आप यह सोच रहे होंगे काफी ब्रांड नाम पहले ही रख चुके हैं। तो अब ब्लॉग का नाम क्या रखे ? तो आप Synonyms की मदद से काफी सारे नाम खोज सकते है।

आपको बस गूगल पर सर्च करना है। उदाहरण के लिए आप कोई “Food” पर ब्लॉग नाम रखना चाहते है तो आपको सर्च करना है synonyms of food और यदि आप Fashion पर ब्लॉग बनाना चाहते है तो आपको सर्च करना है synonyms of fashion.

#7. अपने Competitor के ब्लॉग देखे

जब आप अपने Competitor के ब्लोग्स को देखेंगे तब आपको कुछ आईडिया मिल सकता है। उदाहरण के लिए – आपके Competitor के यह तीन ब्लॉग है :

> SEOmaster

> SEOcraze

> SEOguy

अब आप क्या सोचते है ?

#8. Names Generator Tools का इस्तेमाल

बहुत सारी ऐसी वेबसाइट मौजूद है जो ब्लॉग के नाम को generate करके ढेरो नाम ला सकती है बस आपको पहले कोई छोटा इशारा देना होता है जिससे वह आगे के उदेश्य को पूरा कर सके।

कुछ पॉपुलर टूल्स :

> Blog Name Generator by Themeisle.

> DomainWheel.

> Zyro Business Name Generator.

> Nameboy.

> Wordoid.

> Panabee

#9. दूसरी language का इस्तेमाल

बहुत सारे ऐसे ब्लॉग है जो दूसरी भाषा में अपने ब्लॉग के नाम रखते है। यह आपके लिए तब ज्यादा फ़ायदेमंद हो सकता है जब आप किसी specific country को टारगेट करते है।

नहीं तो आप ऐसे भी रख सकते है इसमें कोई दिक्कत नहीं है। उदाहरण के लिए – राजस्थान में गोल गप्पे को पताशी कहते है। अब अगर आप हरियाणा में रहते है तो “पताशी ब्लॉग” बना राजस्थान को टारगेट कर सकते है।

#10. अपना नाम रख सकते है

यह डिपेंड करता है की आप किस बारे में आपका ब्लॉग है। यदि आप अपना पर्सनल एक्सपीरियंस शेयर कर रहे है। तो आपका नाम बेस्ट ब्लॉग नाम हो सकता है।

बहुत सारे ब्लॉगर अपने नाम से ब्लॉग रन करते है।

इससे आप अपने नाम को ब्रांड बनाते है। और बहुत जगह आप काफी ग्राहक को लूज़ होने से बचा सकते है जो आपकी तलाश में घूमते है।

#11. बाहर की सैर करना

हाँ आपको थोड़ा बाहर टहलने की आवश्यकता हो सकती है। थोड़ी देर अपने कंप्यूटर से दूर रहकर आपके मन में काफी विचार आ सकते है जो आपको इस समय लाने चाहिए।

जब आप बाहर घूमते है या दोस्तों के चाय पीने जाते है तो आप poll कर सकते है। यह एक अच्छा तरीका है कुछ नया सोचने का।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *