FIR Full Form in Hindi | एफआईआर (FIR) का क्या मतलब होता है

दोस्तों, आपने कभी न कभी FIR के बारे में तो सुना ही होगा। क्योंकि लाइफ में कभी न कभी FIR की आवश्यकता पड़ सकती है। या आपने कभी न कभी News चैनल पर FIR का नाम तो सुना ही होगा। 

यदि आपने FIR शब्द ही सुना है और आपको FIR का फुल फॉर्म क्या है और FIR का मतलब क्या है इत्यादि के बारे में नहीं पता है, तो कोई बात नहीं क्योंकि यह पोस्ट आपके लिए काफी जरूरी हो सकता है। 

क्योंकि आज मैं FIR का full क्या है और FIR का मतलब क्या होता है इत्यादि से संबंधित सभी आवश्यक डिटेल्स को आपके साथ शेयर करने वाला हूं। इसलिए आप इस आर्टिकल को शुरू से लेकर अंत तक पढ़ें। 

FIR का Full Form क्या है ? 

ध्यान देने वाली बात यह है कि यदि आप FIR के बारे में सभी महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में जानना चाहते हैं, तो सबसे पहले तो आपको यह जानना चाहिए की FIR का Full Form क्या है। 

तो आपको बता दूं कि FIR का Full Form first information Report होता है। FIR को हम हिंदी भाषा में प्रथम सूचना रपट कहते हैं। इसके अलावा इसे प्राथमिकी कहते हैं। 

FIR का मतलब क्या होता है ? 

सरल शब्दों में समझा जाए तो जब भी हमारे देश में कोई इंसान गुनाह करता है और तब उस इंसान के खिलाफ पुलिस को उस इंसान का complaint दर्ज कराया जाता है। 

तब पुलिस के जरिए उस गुनाह करने वाले इंसान के खिलाफ एक नोट दर्ज किया जाता है। उस नोट में वही दर्ज किया जाता है। जो कंप्लेन दर्ज कराने वाला इंसान कहता है। 

उसी को हम लोग FIR यानी की First information report कहते हैं। अब तो आप समझ ही गए होंगे कि FIR का फुल फॉर्म क्या है और Full Form का मतलब क्या है। 

FIR दर्ज करने के रूल्स क्या है ? 

  • जानकारी के मुताबिक, किसी भी अधिकारी को तभी FIR दर्ज करना होता है जब किसी भी जुर्म की डिटेल्स मौखिक रूप से प्रदान किया गया हो। 
  • यही नहीं जब FIR दर्ज हो जाता है, तब कंप्लेन करने वाले व्यक्ति के सिग्नेचर भी होने जरूर होते हैं तथा उसकी एक कॉपी कंप्लेन करने वाले व्यक्ति को भी दिया जाता है। 
  • मगर जब Complaint दर्ज करने वाले व्यक्ति को सिग्नेचर करने नहीं आता तो कोई बात नहीं वह उनका अंगूठे का निशान भी चल सकता है। 

Smartphone से FIR दर्ज कर सकते हैं ? 

मित्रों, अगर आपका फोन, मोटरसाइकल या फिर कार चोरी हो जाता है तो, इस परिस्थिति में आपको सबसे पहले तो अपने पास वाले पुलिस स्टेशन में जाकर शिकायत दर्ज करनी पड़ती है। 

लेकिन यदि आप बगैर किसी झंझट के पुलिस स्टेशन नहीं जाना चाहते हैं, तो कोई बात नहीं अब आप चाहे तो घर बैठे भी इसकी शिकायत दर्ज करा सकते हैं। क्योंकि अब ये काफी सरल हो गया हो। 

निष्कर्ष :- 

आज के इस लेख में मैने FIR फुल फॉर्म से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी को आपके साथ शेयर कर दिया है और उम्मीद है की आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा। 

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *