खांसी और बलगम खांसी के कारण, लक्षण और देसी उपचार

Uncategorized

अभी हम देख रहे हैं रोजाना मौसम बदल रहा है उस वजह से खांसी और सूखी खांसी की समस्या सबसे अधिक दिखाई पड़ रही है, आइए खांसी होने के कारण, लक्षण और घरेलू उपचार को जानते हैं। 

> खांसी क्या है ?

खांसी एक ऐसा रिएक्शन है जो शरीर के अंदर श्वसन मार्ग या फेफड़े में किसी बाहरी तत्व के जाने से होता है। मानव जीवन में अनुचित भोजन होने के कारण यह कफ और खराश का कारण बनाती है। 

खांसी दो प्रकार की होती है सूखी खांसी और बलगम वाली खांसी। 

> सूखी खांसी होने के क्या कारण है ?

सूखी खांसी अधिक वायरल संक्रमण होने से एलर्जी, सर्दी, जुखाम, फ्लू , प्रदूषित वातावरण और अस्थमा होने के कारण होती है इसमें सबसे बड़ा कारण अस्थमा होने से है जो सबसे अधिक दिखाई दे रहा है। 

> सूखी खांसी के लक्षण

  • गले में दर्द का महसूस होना
  • जलन का महसूस होना
  • सांस लेने में दिक्कत होना। 
  • गले में खराश का होना

 > बलगम वाली खांसी होने के क्या कारण है ?

बलगम वाली खांसी निमोनिया, अस्थमा या यह शरीर को ठंड लगने की वजह से अधिक होती है। 

> बलगम वाली खांसी के लक्षण :

  • छाती में हल्का दर्द महसूस करना
  • खासने पर कफ का निकालना
  • सीने में कफ का जम जाना 
  • गले से गड़गड़ाहट की आवाज निकालना

सूखी खांसी का घरेलू उपाय :

#1. शहद का सेवन करें: यदि आप सूखी खांसी से पूरा परेशान हो चुके हैं तो आप शहद का इस्तेमाल कर सकते हैं एक चम्मच शहद लेकर उसे दूध में डाले और इसका सेवन करें। यह आपके गले को काफी आराम देगा। 

#2. प्याज का उपयोग करें: एक अच्छा तरीका यह है की एक चम्मच प्याज के रस और शहद के रस को आपस में मिला दे और इस तरीके को दिन में दो – बार इसका सेवन करें। इससे खांसी और गले का दर्द दोनों गायब हो जाएगा। 

#3. मुलेठी का उपयोग करें : यह बहुत ही पुराना तरीका है खांसी को ठीक करने का, लेकिन रामबाण का काम करता है। इसके लिए आप दो-तीन चम्मच बड़ी मुलेठी को पतीले में रखकर उसे उबाल ले और इसके भाप को सिर पर कपड़ा रख कर दिन में दो – टाइम ले। 

#4. अदरक का उपयोग करें: आप ऐसा कर सकते हैं कि अदरक को लेकर उसको अच्छे से कूट कर और उसमें थोड़ा सा नमक को मिक्स कर दें अब इसे अपनी दाढ़ के नीचे कुछ समय तक दबाकर रखें और थोड़े टाइम बाद अच्छे से कुल्ला कर ले। यह उपचार खांसी में काफी आराम देगा। 

#5. पीपल की गांठ का इस्तेमाल : सूखी खांसी को ठीक करने के लिए पीपल की गाठ में एक चम्मच शहद को मिलाकर रोजाना इसका सेवन करें। यह उपाय खांसी को पूरी तरह ठीक कर देगा। सूखी खासी में यह काफी कारगर साबित होता है। 

बलगम वाली खांसी का घरेलू उपचार (इलाज) :

#1. रोजाना भाप ले: जिनको बलगम वाली खांसी ने जकड़ा हुआ है वह इस उपचार को रोजाना की दिनचर्या में बार बार करे। आप दिन में तीन बार भाप लेकर खासी में काफी आराम पा सकते हैं। इसके लिए आपको किसी साम्रगी की भी आवश्यकता नहीं होती। 

#2. रात को शहद खाये : रात्रि में सोने के कुछ समय पहले आप एक – डेढ़ चमच्च शहद का सेवन कर सकते हैं। इससे आपको सोने में काफी आराम मिलेगा और गले की खराश कम होगी। 

#3. नींबू और शहद का उपयोग : घरेलू नुस्खा में बलगम भगाने के लिए नींबू वाली चाय या शहद वाली चाय का सेवन करना चाहिए यह उपाय बलगम को कम करता है और गले को आराम पहुंचाता है। 

#4. नमक पानी के गरारे : दिन में कम से कम तीन – चार बार गर्म पानी करके और उसमे थोड़ा नमक मिलाकर इसके गरारे करें। यह इलाज गले में होने वाली गड़गड़ाहट को गायब करता है और गले को राहत पहुंचाएगा 

#5. अधिक पानी का सेवन करें : इस समय आपकी यह कोशिश करनी है कि आप अधिक से अधिक पानी का सेवन करें। यह अंदर जमे बलगम को पतला करता है जिससे खासी में आराम मिलता है। 

खांसी वाली अवस्था में कैसा खान पान होना चाहिए ?

  • बासी खाना कभी भी ग्रहण ना करें। 
  • आप नाश्ते और लंच के बाद एक – दो चम्मच शहद का सेवन कर सकते हैं इससे खासी दूर भागती है। 
  • इस अवस्था में सब्जियों का सूप बना कर पी सकते हैं यह काफी कारगर तरीका हैं खासी को दूर करने का। 
  • खांसी की स्थिति में बर्फ, आइसक्रीम जैसी चीजों से बिल्कुल दूर रहे। 
  • खांसी में बाहर का खाना, दूध और दही का सेवन ना करें। 
  • इस समय आप कम भोजन ही करे, फिर जब आपको आराम लगने लगता है फिर धीरे-धीरे आप भोजन को बढ़ा सकते हैं। 

Conclusion : हमने आपके सामने खांसी के बड़े कारण और उसके लक्षण आप को बताए हैं यदि आपको या आपके परिवार में कोई खांसी का शिकार है तो यह घरेलू उपचार आपको जरूर एक बार आजमाना चाहिए

Leave a Comment