कंप्यूटर ऑपरेटर कैसे बने – योग्यता, सिलेबस, सैलरी

Uncategorized

आज के समय में कंप्यूटर का इस्तेमाल कहां नहीं किया जाता, हर फील्ड में चाहे सरकारी फील्ड हो या प्राइवेट, हर जगह कंप्यूटर का इस्तेमाल किया जाता है। क्योंकि कंप्यूटर से कामों को आसान, जल्दी और सही तरीके से करने में सक्षम है, इसीलिए आजकल हर जगह कंप्यूटर का इस्तेमाल हो रहा है। 

कंप्यूटर की मांग बढ़ती जा रही है, लोग Computer Operator Jobs कहीं भी प्राइवेट या सरकारी कार्यालयों में पा सकते हैं। 

Computer Operator Kaun Hota Hai – कंप्यूटर ऑपरेटर के बारे में

वह व्यक्ति जो कंप्यूटर में डाटा इनपुट से संबंधित कार्यों को करता है वह “Computer Operator” कहलाता है। एक कंप्यूटर ऑपरेटर कंप्यूटर के आउटपुट डिवाइस जैसे माउस, कीबोर्ड, मॉनिटर, प्रिंटर आदि का इस्तेमाल 

करता है। कंप्यूटर के कार्य जैसे कोई एक्सेल शीट तैयार करना, डेटा एंट्री डालना,  रिज्यूम तैयार करना, डॉक्यूमेंट बनाना, यह सभी काम Computer Operator ही करता है। 

बाकी कार्यलय पर भी निर्भर करता है की वहां क्या काम हो रहे है। 

Computer Operator बनने के लिए Skills : 

यदि आप कहीं भी कंप्यूटर ऑपरेटर का काम या जॉब करना चाहते हैं, तो आपको कंप्यूटर के बारे में बेसिक ज्ञान होना चाहिए, तभी आप कंप्यूटर को ऑपरेट कर पाएंगे आइए जानते हैं एक Computer Operator बनने के लिए क्या स्किल होनी चाहिए

1) Computer Basic Knowledge : क्योंकि कंप्यूटर ऑपरेटर का सारा काम कंप्यूटर पर ही होता है, तो उसको कंप्यूटर के बारे में बेसिक ज्ञान का होना जरूरी है जैसे कंप्यूटर ऑन कैसे करना हैं, प्रिंटर कैसे चलाना है। 

कंप्यूटर में इस्तेमाल होने वाले सॉफ्टवेयर पावर प्वाइंट, एमएस वर्ड को कैसे चलाना है। कंप्यूटर के शॉर्टकट की क्या है यह सभी बेसिक जानकारी होनी चाहिए तभी आप कंप्यूटर को चला सकते हैं। 

2) Typing Speed अच्छी होनी चाहिए : कंप्यूटर ऑपरेटर का सारा काम कीबोर्ड की सहायता से होता है, यदि आपकी टाइपिंग स्पीड कम है तो आपको उसे तेज करने में लग जाना चाहिए इसके लिए आप Typing Master में टाइपिंग स्पीड बढ़ाने के लिए प्रैक्टिस कर सकते हैं, 

क्योंकि सभी कार्यालयों में वही कंप्यूटर ऑपरेटर को रखते हैं जिनकी टाइपिंग स्पीड काफी अच्छी होती है ताकि उनका काम जल्दी हो सके। 

3) Language Knowledge : कंप्यूटर ऑपरेटर की जॉब में हिंदी और इंग्लिश दोनों लैंग्वेज में टाइपिंग करनी पड़ सकती है, इसके लिए आपको अलग-अलग भाषा का ज्ञान होना चाहिए और टाइपिंग करनी आनी चाहिए 

यदि आपको अलग-अलग भाषाओं के बारे में ज्ञान नहीं है तो आपको कार्य में दिक्कत आ सकती है। 

Computer Operator Kaise Bane – कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए

किसी भी जॉब को ज्वाइन करने के लिए चाहे वह प्राइवेट नौकरी हो या सरकारी, उन सभी व्यक्ति की योग्यताएं देखी जाती है, उसके बाद ही आपको उसे जॉब के लिए चुना जाता है आइए जानते हैं कंप्यूटर ऑपरेटर 

बनने के लिए क्या योग्यता होनी चाहिए :

कंप्यूटर ऑपरेटर के लिए क्वालिफिकेशन : कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए 12वीं कक्षा में पास होना जरूरी है 12वीं कक्षा में आप किसी भी विषय से पास करे, यह मायने नहीं रखता डाटा ऑपरेटर बनने के लिए यह 

भी निर्भर करता है कि आप कौन से कार्यालय में काम कर रहे हैं, क्योंकि सभी कार्यालय में अलग – अलग क्वालिफिकेशन योग्यता रखते हैं 

डिप्लोमा कोर्स करें : Computer Operator Banne Ke Liye आपका डिप्लोमा कोर्स करना जरूरी है, क्योंकि डिप्लोमा कोर्स में आपको कंप्यूटर ऑपरेट करने का एक्सपीरियंस मिलता है, इसलिए आप 6 महीने का डिप्लोमा कोर्स करना होता है 

कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए उम्र : कंप्यूटर ऑपरेटर की जॉब पाने के लिए कम से कम 18 वर्ष और और अधिकतम उम्र 30 वर्ष होनी चाहिए। वही Data Entry Operater बनने के लिए 18 से 28 वर्ष उम्र होनी चाहिए। 

Computer Operator Ke Kaam – कंप्यूटर ऑपरेटर के कार्य

  • कंप्यूटर ऑपरेटर का मुख्य काम डाटा एंट्री करनी होती है, और डाटा एंट्री में सूचनाओं को कंप्यूटर में अपडेट करना होता है। 
  • डेली, मंथली और Yearly रिकॉर्ड कंप्यूटर में फीड करना, रिपोर्ट निकालना। 
  • माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल में डाटा एंट्री करना या शीट बनाना

Computer Operator Job कैसे पाएं ?

कंप्यूटर ऑपरेटर की जॉब पाने के लिए हर सरकार लगभग हर राज्य में कंप्यूटर ऑपरेटर वैकेंसी निकालती है इसके लिए आपको सरकार द्वारा 

निकाली गई Computer Operator Bharti पर नजर रखनी होगी, तब आप सरकारी विभागों में Computer Operator की नौकरी कर सकते हैं, 

अगर आप प्राइवेट कार्यालय में डाटा ऑपरेटर की जॉब करना चाहते हैं, तो गूगल पर सर्च करें Computer Operator Jobs Near Me आपको अपने लोकल एरिया में कंप्यूटर ऑपरेटर की नौकरी मिल सकती है। 

Note : कंप्यूटर ऑपरेटर की आवेदन करने से पहले आप अपना एक रिज्यूम तैयार कर लें, यदि आपके पास डिप्लोमा कोर्स या कंप्यूटर कोर्स का कोई सर्टिफिकेट है तो उसे भी अटैच कर ले। 

Computer Operator Ki Salary : 

यह कार्यालय पर निर्भर करता है क्योंकि सभी सेक्टर में अलग-अलग सैलरीज निर्धारित की गई होती है भारत के दो प्रमुख सेक्टर गवर्नमेंट सेक्टर और प्राइवेट सेक्टर है जिनमें यह सैलरी दी जाती है :

  • Government Sector – 10,000 से 20,000 के लगभग हर महीने
  • Private Sector – 14,000 से 26,000 के लगभग हर महीने

कंप्यूटर ऑपरेटर की चयन प्रक्रिया क्या है?

कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए और उसकी तैयारी करने के लिए आपको कोई खास एग्जाम क्लियर करना नहीं होता। कंप्यूटर ऑपरेटर बनने के लिए आपको एक Written Exam क्लियर करना होता है आगे के एग्जाम क्लियर करने के लिए Cut Off के पड़ाव को पार करना होता है। 

रिटन टेस्ट देने के बाद आपका टाइपिंग टेस्ट भी लिया जाता है

जहां आपकी टाइपिंग स्पीड पर अधिक ध्यान दिया जाता है फिर आपका छोटा सा इंटरव्यू लिया जाता है जाता है, जिसमें आप से General Knowledge से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं

आवेदन करने से पहले यह जान लें कि एग्जाम का पैटर्न क्या है।

Best Computer Operator Courses : 

  • NPTEL
  • DEI-DEP
  • Diploma in Computer Operator
  • ITI Computer Operator Course

Conclusion : हमें पूरी उम्मीद है “Computer Operator Kaise Bane” इसके लिए क्या योग्यता चाहिए ? सभी जानकारी आपको मिल गई होगी,  कंप्यूटर का बेसिक ज्ञान लेने के लिए आप कंप्यूटर चलाने की 

प्रैक्टिस घर पर ही कर सकते हैं और अपनी टाइपिंग स्पीड भी बढ़ा सकते हैं। 

FAQs About Computer Operator Kaise Bane :

Q1. कंप्यूटर ऑपरेटर का मुख्य कार्य क्या होता है

Ans : Computer Operator का मुख्य कार्य Data Entry करना होता है या Data को कंप्यूटर में फीड करना होता है। 

Q2. Computer Operator बनने के लिए क्या करना चाहिए ?

Ans : Computer Operator बनने के लिए पहले आपको कंप्यूटर के बारे में बेसिक ज्ञान हासिल करना होता है, फिर धीरे-धीरे आपको टाइपिंग स्पीड और कंप्यूटर के सॉफ्टवेयर को सीखना होता है। 

Q3. कंप्यूटर ऑपरेटर की क्या जिम्मेदारी होती है ?

Ans : Computer Operator को दिए जाने वाले कार्य बहुत सावधानी और ध्यान से करना होता है इसमें कोई भी छोटी गलती पूरे रिकॉर्ड को गलत कर सकती है

Leave a Comment